• Sep 10 1987
  • Darbhanga
  • India

Shyam Kumar Sahani

BioGraphy

श्याम कुमार सहनी (DIRECTOR COLOUR WHEEL ) बचपन से चित्रकला और मूर्तिकला में रूचि रखने वाले  श्याम ने अपनी नाट्ययात्रा की शुरुआत दरभंगा की नाट्य संस्था “थियेटर यूनिट से की ,तत्पश्चात बेगूसराय की नाट्य संस्था “आकाशगंगा रंग चौपाल एसोशिऐशन” से जुड़ाव |जंतु विज्ञान में स्नातक ,एवं फाईन आर्ट से स्नातकोत्तर | वर्ष  2014 में राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय से परिकल्पना एवं निर्देशन में विशेषज्ञ   | अँधा युग,अंधेर नगरी ,बिन दुल्हन की शादी , अभिनव जयदेव विद्यापति, जो घर जारे आपना, गोदान, कफन, कुमति नगर का किस्सा, मैकबेथ ,ससांगधिरी, विविध, छ बीघा जमीन, सिविलिजेशन आन ट्रायल,रुस्तम सोहराब,एक आषाढ़, 409 राम किंकर बैज,साइलेंट स्पीच,बाबूजी, नेपथ्यक अभिनेता  आदि प्रमुख नाटको में अभिनय | इसके अतिरिक्त  -पापा खो गए, बस आकर चले जाना ,आज का  हातिमताई ,फ्रेम्स, इन्ना की आवाज, फांस, संवदिया,प्रायश्चित ,रुस्तम सोहराब,रिफंड ,वीकेंड, AMiddle Class Dog, Oxman, Zero Water,उलझन,चमारों की गली में,अंगिरा आदि  नाटको  का  निर्देशन  किया है |सह निर्देशक के रूप में-पगला घोड़ा,बुधनी,विरासत, धूर्तसमागम,ओरिजनल काम आदि नाटकों का निर्देशन।  डिजाइनर के रूप में श्याम ने कई नाटको में उल्लेखनीय योगदान दिया है | ख्यातिप्राप्त रंगकर्मी -अनुराधा कपूर ,क्रीर्ति जैन , रंजीत कपूर,रोबिन दास ,अभिलाष पिल्लै,सांतनु बोस, के.एस.राजेंद्रन, त्रिपुरारी शर्मा, देवेन्द्रराज अंकुर, दिनेश खन्ना, सुरेश शेट्टी, ओज्द्याखुली खोज्याकुली (तुर्कमेनिस्तान), पिटर कुक (अमेरिका), क्लौडिया मेयर(लंदन) ,नील फ्रेजर (लंदन) पद्मश्री विदुषी  रीता गांगुली, अतुल कुमार, सूर्यमोहन कुलश्रेष्ठ  आदि के साथ कार्यानुभव | इसके अलावा टीवी सीरियल ,और फिल्मो के लिए अभिनय ,रूप सज्जा और कला निर्देंशन भी किया है | वर्ष 2015 में  सिंगापुर में आयोजित 8th Asia- Pacific Bureau Theatre school Festival  में  राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय की ओर से प्रो0-सुरेश शेट्टी के निर्देशन में नाटक “साइलेंट स्पीच” में बतौर  अभिनेता,नर्तक,और  डिज़ाइनर के रूप में महत्वपूर्ण योगदान दिया है |  श्याम को अपनी रंग यात्रा के लिए “थियेटर वाला युवा सम्मान” 2016 एवं “बिहार गौरव सम्मान” 2018 प्राप्त हुआ  है | वर्तमान  में  अपनी रंग संस्था “Colour Wheel” के साथ”Theatre Unit, Darbhanga एवं मैलोरंग” के साथ -साथ राज्य,देश व् अंतराष्ट्रीय नाट्य दलों  के साथ  रंग कर्म की नई  परिभाषा  गढने में सक्रिय  है।  

;